logo

गूगल और फेसबुक पर अब टैक्स लगाने की तैयारी

Blog single photo

प्रत्यक्ष कर संहिता मसौदे में केंद्र सरकार कर सकती है डिजिटल टैक्स की घोषणा

नई दिल्ली 1 अगस्त 2019 (एसएमएन)- अब भारत भी गूगल फेसबुक और ट्विटर जैसी दिग्गज टेक कंपनियों पर डिजिटल टैक्स लगाने की तैयारी कर रहा है ।इसकी रूपरेखा भी तैयार की जा रही है और प्रत्यक्ष कर संहिता के रूप में मसौदे में भी इसका उल्लेख हो सकता है।

  खबरों के अनुसार 5लाख से ज्यादा यूजर और ₹20करोड़ से अधिक राजस्व वाली कंपनियों को इसके दायरे में लाया जा सकता है। इस टैक्स की मार सीधे तौर पर बहुराष्ट्रीय कंपनियों पर पड़ेगा पिछले साल बजट में भी इसका संकेत दिया जा चुका है और ऐसी गैर भारतीय कंपनियों को सिग्निफिकेंट इकोनामिक प्रजेंट( एसईपी ) का नाम दिया गया है, जिन्हें भारत में हुई कमाई पर 35 फीसदी  तक टैक्स देना पड़ सकता है। भारत में कंपनियों पर अधिकतम इतना ही टैक्स है ।भारतीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले माह हुए जी-20 सम्मेलन में भी एक कंपनियों पर टैक्स के लिए एक समान रूपरेखा तैयार करने का मांग किया था सीबीडीटी ने भी जुलाई 2018 में बड़ी कंपनियों पर टैक्स काट करने को सुझाव मांगे थे।

यूरोपीय संघ की लगाएगा टैक्स

यूरोपीय संघ भी विदेशी टेक कंपनियों की स्थाई कमाई पर 3 फ़ीसदी तक टैक्स लगाने की तैयारी कर रहा है इसके तहत 55 100 करोड़ रुपए से ज्यादा सालाना राजस्व वाली कंपनियों पर जाकर लगेगा फ्रांस भी डिजिटल कंपनियों पर टैक्स लगाने का कानून पहले ही पारित कर चुका है इससे नाराज अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फ्रेंच वाहन पर कर लगाने की धमकी दी है

footer
Top