logo
Blog single photo

झानवु बोले- भारत के लिए खतरा नहीं चीन, आपसी विश्वास बढ़ाने की जरूरत

शांति निकेतन, जेएनएन। चीन किसी भी देश के लिए खतरा नहीं है, भारत के लिए तो निश्चित रूप से नहीं। चीन भारत के साथ अपने संबंधों को बेहतर करना चाहता है।

कोलकाता में चीन के महावाणिज्य दूत मा झानवु ने शुक्रवार को विश्वभारती स्थित चीना भवन की 80वीं वार्षिकी के अवसर पर आयोजित समारोह के उद्घाटन सत्र में ये विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि हमारे राष्ट्रपति पहले ही कह चुके हैं कि चीन नायक बनने अथवा अपना विस्तार करने की कोशिश नहीं करेगा। हमें अपना लक्ष्य ऊंचा रखते हुए आपसी विश्वास बढ़ाने की जरूरत है। हमें परस्पर आर्थिक विकास एवं राजनीतिक संबंधों को मजबूत करने पर ध्यान देना चाहिए।

ज्ञात हो कि अरुणाचल प्रदेश के बड़े हिस्से को चीन दक्षिण तिब्बत का हिस्सा मानता रहा है। हाल ही में सिक्किम क्षेत्र के डोकलाम में 73 दिनों तक आमने-सामने रहने के बाद भारत और चीन की सेनाएं पीछे हटी थी। डोकलाम सीमा विवाद पर भारत ने पीछे हटने से इनकार कर दिया था, इसलिए चीन को मानना पड़ा था।

footer
Top