logo

यूपी: अगर आप न्यू ईयर का जश्न मनाते हैं तो पुलिस से लेनी होगी परमिशन, ये हैं शासन के निर्देश

Blog single photo

लखनऊ- उत्तर प्रदेश  के मुख्य सचिव आर के तिवारी ने सीनियर अफसरों को पत्र लिखकर निर्देश दिए हैं कि कोई भी नये साल का जश्न  मनाता है तो उसे पुलिस-प्रशासन से परमिशन लेना होगा. शासन के निर्देशों के मुताबिक, कार्यक्रम में 100 से अधिक लोग शामिल नहीं होगे.

प्रदेश के मुख्य सचिव ने अफसरों को लिखे पत्र में कहा है कि अपने जिलों में कार्यक्रम के दौरान कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन कराया जाए. खुली जगह पर आयोजन होने पर 40 प्रतिशत लोग ही इकट्ठा हो सकेंगे.

बता दें कि नववर्ष 2021 आने में 3 दिनों का वक्त है. इससे पहले इस अवसर पर आयोजित किए जाने वाले कोई भी कार्यक्रम संबंधित जिले के जिलाधिकारी/कमिश्नरेट जिलों में पुलिस कमिश्नर को पूर्व सूचना देकर ही आयोजित करने के निर्देश यूपी शासन ने दिए गए हैं. अनुमति के समय ही आयोजक का नाम, पता, मोबाइल नंबर प्राप्त कर सूचीबद्ध कर लिया जाए और उनसे कार्यक्रम में शामिल होने वाले व्यक्तियों की अनुमानित संख्या भी प्राप्त कर ली जाए.

मुख्य सचिव आर के तिवारी ने अफसरों को दिए ये दिशा-निर्देश

आयोजकों को उनके द्वारा प्रस्तावित कार्यक्रमों के संबंध में कोविड-19 से बचाव संबंधी दिशा-निर्देशों को भली-भांति अवगत करा दिया जाए. यह स्पष्ट कर दिया जाए कि कार्यक्रम के दौरान कोविड प्रोटोकाल और गाइडलाइंस के अनुपालन की जिम्मेदारी उन्हीं की होगी.

किसी बंद स्थान जैसे हाल/कमरे में कार्यक्रम होने की स्थिति में हाल/कमरे की निर्धारित क्षमता का 50 प्रतिशत किन्तु एक समय में अधिकतम 100 व्यक्तियों तक और खुले स्थान/मैदान में कार्यक्रम होने की स्थिति में ऐसे स्थानों के क्षेत्रफल के 40 प्रतिशत से कम क्षमता तक ही फेस मास्क, शारीरिक दूरी, थर्मल स्कैनिंग, सैनिटाइजर और हैंडवॉश की उपलब्धता की अनिवार्यता सुनिश्चित की जाए.

आयोजकों को कार्यक्रम आयोजन के दौरान जारी दिशा-निर्देशों के अनुक्रम में कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले व्यक्तियों की निर्धारित संख्या एवं मास्क धारण करने और शारीरिक दूरी का पालन करने ओर कार्यक्रम स्थल पर थर्मल स्कैनिंग, हैंडवॉश एवं सैनिटाइजेशन कराये जाने के संबंध में अवश्य अवगत करा दिया जाए. लोगों को घरों में ही जश्न मनाने के लिए प्रेरित करें. 

नये वर्ष के कार्यक्रमों को देखते हुए जिले में पीए सिस्टम, लाउड हेलर आदि के माध्यम से लगातार प्रचार-प्रसार कराया जाए. जनता को नये वर्ष के पर्व व कार्यक्रम सार्वजनिक स्थानों की जगह अपने घरों में मनाने के लिए प्रेरित करें.

- Ram Prakash 

footer
Top